Thursday 29 Oct 2020 9:55 AM

Breaking News:

संवेदनशील व दुर्गम क्षेत्रों मे सेना के जवानों को नॉन बुलेट वाहन से भेजा जाना सुरक्षा के साथ खिलवाड़- प्रमोद तिवारी

संवेदनशील व दुर्गम क्षेत्रों मे सेना के जवानों को नॉन बुलेट वाहन से भेजा जाना सुरक्षा के साथ खिलवाड़- प्रमोद तिवारी

प्रतापगढ़ 

10/10/2020

जिला संवाददाता जितेंद्र कुमार वर्मा


संवेदनशील व दुर्गम क्षेत्रों मे सेना के जवानों को नॉन बुलेट वाहन से भेजा जाना सुरक्षा के साथ खिलवाड़- प्रमोद तिवारी


 *अंग्रेजो की सत्ता के हिमायती हमें न बताएं कांग्रेस का डीएनए, सीएम की टिप्पणी पर खफा हुए सीडब्लूसी सदस्य व आउटरीच कमेटी प्रभारी तिवारी।* 


लालगंज, प्रतापगढ़। सीडब्लूसी सदस्य प्रमोद तिवारी ने देश के संवेदनशील मोर्चे पर नॉन बुलेट वाहन से सेना के जवानो को भेजे जाने के केंद्र के फैसले को पूरी तरह से सेना तथा राष्ट्रीय सुरक्षा के साथ खतरनाक कदम करार दिया है। श्री तिवारी ने जवानो के एक वीडियो के हवाले से शनिवार को जारी यहां बयान मे कहा कि आतंकवादी गतिविधियो से जुडे संवेदनशील क्षेत्रो मे भारत के वीर जवानो को नॉन बुलेट वाहनो से भेजवाया जाना सेना के साथ साथ देश की आंतरिक सुरक्षा पर भी मोदी सरकार खतरे का जोखिम उठा रही है। श्री तिवारी ने कहा कि जब अतिसंवेदशील और दुर्गम क्षेत्र मे जवान चारो तरफ से खतरे की बात कह रहे है और उनका मानना है कि यहां पर बुलेट प्रूफ वाहन मे भी चलना सुरक्षित नही है तो आखिर ऐसे दुर्गम क्षेत्र मे जवानो को साधारण वाहन से क्यों भेजा जा रहा है। श्री तिवारी ने कहा कि यदि सरकार इतनी भी संवेदनशील नही है कि वह दुर्गम एवं असुरक्षित क्षेत्र मे हवाई जहाज या हेलीकॉप्टर से जवानो को नही भेज सके तो कम से कम जवानो की इच्छा का सम्मान करते हुए इन्हें बुलेट प्रूफ वाहन मे अवश्य भेजा जाना चाहिए। प्रमोद तिवारी ने कडे अंदाज मे पीएम मोदी पर तंज कसा कि प्रधानमंत्री तो आठ हजार छः सौ करोड़ के मंहगे ए-वन एयर इण्डिया के सुसज्जित हवाई जहाज की खरीद कर यात्रा करें और देश की आन-बान की हिफाजत करने वाली हमारी बहादुर सेना को उसकी भावनाओ को नजरअंदाज करते हुए नॉन बुलेट वाहन से जान हथेली पर रखकर संवेदनशील इलाके मे कूच कराई जाय। प्रमोद तिवारी ने पीएम पर अमेरिकन प्रेसीडंेट की तर्ज पर खुद की ट्रंप जैसी सुरक्षा के प्रति चिंतित होने पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि इतनी ही चिंता देश के प्रधानमंत्री को सेना के जवानो के प्रति भी कम से कम अवश्य रखनी चाहिए। वहीं श्री तिवारी ने प्रदेश मे कानून और व्यवस्था को गिरावट के अंतिम पायदान पर ठहराते हुए यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के द्वारा कांग्रेस के डीएनए से जुडी टिप्पणी पर तल्ख प्रतिक्रिया जताई। प्रमोद तिवारी ने कहा कि यूपी के सीएम को दोबारा इतिहास पढ़ने और समझने की जरूरत है। कांग्रेस का डीएनए देश को आजादी दिलाने और निर्माण तथा विकास एवं सशक्त भारत का है। उन्होनें कहा कि भाजपा अपनी गिरेबां मे झांके। क्योंकि भाजपा के जुडे हुए संगठन तो आजादी के आंदोलन के समय अंग्रेजी सेना मे भर्ती होने का आहवान कर रहे थे। प्रमोद तिवारी ने कहा कि वहीं कांग्रेस उस समय करो और मरो का नारा देकर अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ मजबूती से लड़ रही थी। उन्होनें आतंकवाद के खिलाफ इंदिरा गांधी तथा राजीव गांधी की शहादत का हवाला देते हुए भाजपा से सवाल पूछा कि वह बताए कि आखिर उसके किस बडे नेता ने देश के लिए अथवा आतंकवाद के खिलाफ शहादत दी है? वही सीडब्लूसी मेंबर प्रमोद तिवारी ने कहा कि कांग्रेस को भाजपा के किसी नेता से प्रमाण पत्र की आवश्यकता नही है जो लोग अंग्रेजो की फौज मे भर्ती होने का मसविरा दे रहे थे कम से कम ऐसे लोग अब हमें कांग्रेस का डीएनए बताने की हिमाकत न करें। प्रमोद तिवारी ने कहा कि भाजपा की अदूरदर्शिता से देश की जीडीपी माइनस तेईस पर पहुंच गई है। मीडिया प्रभारी ज्ञानप्रकाश शुक्ल के हवाले से जारी बयान मे प्रमोद तिवारी ने यह भी सवाल उठाया कि सरकार की गलत नीति से आज प्रति व्यक्ति औसत आमदनी छः प्रतिशत से भी कम हो गई है। उन्होने रिजर्व बैंक ऑफ इण्डिया के हवाले से कहा कि देश की जीडीपी नौ दशमलव छः प्रतिशत गिरावट की ओर जा रही है। ऐसे मे बकौल प्रमोद तिवारी अपनी अक्षमता और खिसियाहट पर भाजपा को सच स्वीकार कर प्रवचन नहीं बल्कि आत्ममंथन करना चाहिए कि कांग्रेस ने तो समृद्धिशाली और दुनिया की पांच बड़ी शक्तियों मे शामिल भारत इन्हें सौंपा था और अब यह कमजोर भारत की ओर अपने कदम आखिर क्यों नही संभाल पा रहे है।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *