Tuesday 24 Nov 2020 14:21 PM

Corona काल में मंदिर के भूमि पूजन आयोजन में सैकड़ों लोगों को आमंत्रित करना, लोगों के जीवन को संकट में डालना है - लोकदल

Corona काल में मंदिर के भूमि पूजन आयोजन में सैकड़ों लोगों को आमंत्रित करना, लोगों के जीवन को संकट में डालना है - लोकदल

प्रकाश प्रभाव न्यूज़ 

लखनऊ।  

Corona काल में मंदिर के भूमि पूजन आयोजन में सैकड़ों लोगों को आमंत्रित करना, लोगों के जीवन को संकट में डालना है - लोकदल


ऐतिहासिक राम जन्मभूमि का फैसला आने की बाद अब वो दिन दूर नहीं रह गये जब मंदिर के बनने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। आपको बताते चले कि आगामी 5 अगस्त को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा राम मंदिर भूमि पूजन का शुभ महूर्त निकाला गया है और 5 अगस्त को प्रधानमंत्री के द्वारा अयोध्या में भूमि पूजन का कार्यक्रम रखा गया है।

5 अगस्त को प्रधानमंत्री के अयोध्या भूमि पूजन आगमन पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए लोकदल के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुनील सिंह ने कहा है कि "भक्ति" और "भक्तों" के बीच देश बेहाल नज़र आ रहा है। अपनी भक्ति साबित करने के लिए भक्तों की भीड़ लगी हुई है। सवाल उठाया जा रहा है कि देश के असली  भक्त कौन हैं? कौन अपने देश से सबसे ज्यादा  प्यार करता है? आज तक मुझे यह एहसास नहीं हुआ कि मैं देश भक्त हूं या नहीं, शायद इसलिए नहीं हुआ क्योंकि मैं इसी देश में पैदा हुआ हूं, इस देश से प्यार करता हूं तो स्वाभाविक रूप से देश के प्रति मेरी भक्ति है। लेकिन जिस तरह से इसके लिए जंग छिड़ी हुई है, उसे देखकर अब ऐसा एहसास होने लगा है कि सबको देश के प्रति अपनी भक्ति साबित करना जरूरी हो गया है।

अपनी देश भक्ति साबित करने में लगे हुए हैं, या फिर हाथ में झंडा लेकर गली-गली में ''भारत माता की जय'' का  नारा लगाना चाहिए। देश भक्ति के नाम पर देश में जो हंगामा हो रहा है, उसे देखकर ऐसा लगने लगा है कि क्या सच में जो लोग हंगामा कर रहे हैं, वह अपने देश से प्यार करते हैं या प्यार की नौटंकी।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *