Friday 06 Aug 2021 7:52 AM

Breaking News:

यूपी एटीएस ने आतंकवादियों के एक साथी को और दबोचा

यूपी एटीएस ने आतंकवादियों के एक साथी को और दबोचा

crime news, apradh samachar

prakash prabhaw news

लखनऊ।  

रिपोर्ट, इज़हार अहमद 

यूपी एटीएस ने आतंकवादियों के एक साथी को और दबोचा 

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में यूपी एटीएस (UP ATS) द्वारा रविवार को अलकायदा के आतंकवादी (TERRORIST) मिनहाज और मसीरुद्दीन गिरफ्तार किए गए थे।  इन दोनों आतंकवादियों से मिली जानकारी के आधार पर उसके एक अन्य साथी शकील को बुधवार को हिरासत में ले लिया गया है। एटीएस ने सुबह वजीरगंज जनता नगर निवासी शकील को बुद्धा पार्क (BUDDHA PARK) के पास से दबोच लिया। 

एटीएस के अधिकारी के मुताबिक बीते तीन दिनों से शकील की तलाश की जा रही थी। उसकी तलाश में लखनऊ के कई इलाकों में दबिश दी गई लेकिन वह हाथ नहीं लगा। बुधवार को सुबह शकील की लोकेशन वजीरगंज इलाके में मिली। पेशे  से ई रिक्शा चालक शकील को एटीएस की टीम ने बुद्धा पार्क के पास दबोच लिया। एटीएस की टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया और सीधे मुख्यालय लेकर चली गई। एटीएस की एक टीम उसके मोबाइल की डिटेल खंगाल रही है। वहीं, उसके ठिकानों पर छापेमारी करने की तैयारी शुरू कर दी गई है।

एटीएस की कार्रवाई के दौरान शकील को बुद्धा पार्क से दबोचा गया। इसकी जानकारी मिलते ही उसके परिजन और मोहल्ले के लोगों ने हंगामा शुरू कर दिया। गिरफ्तारी की सूचना पर पहुंची मीडिया कर्मियों से मोहल्ले के लोगों ने बदसलूकी या शुरू कर दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मीडिया कर्मी से बदसलूकी करने वालों की तलाश शुरू कर दी है।

लखनऊ में एटीएस ने आतंकी मिनहाज अहमद और मसीरुद्दीन उर्फ मुशीर को गिरफ्तार किया था। आतंकियों ने खुलासा किया है कि वह 15 अगस्त को धमाके करने वाले थे। हालांकि एटीएस ने ये खुलासा नहीं किया कि ये धमाके कहां करने वाले थे। सूत्रों के मुताबिक आतंकियों का दिल्ली कनेक्शन पाया गया है। आशंका है कि मिनहाज व मुशीर या फिर इनसे जुड़े आतंकी दिल्ली में भी किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक में थे। मगर एटीएस ने उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया।

जांच एजेंसी ने ये जानकारी दिल्ली पुलिस से साझा की। अंदेशा है इसी वजह से पूरे मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल टीम ने तफ्तीश शुरू की है। एक टीम लखनऊ पहुंच चुकी है। सूत्रों के मुताबिक फिलहाल एटीएस और दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल अपने-अपने स्तर से जांच करेगी। आतंकियों की धरपकड़ करेगी। उसके बाद एनआईए को जांच ट्रांसफर करने निर्णय लिया जा सकता है।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *