Wednesday 14 Apr 2021 7:16 AM

Breaking News:

अवैध संबंधों के शक में इंजीनियर पति ने अपनी गर्भवती पत्नी की गला दबाकर की हत्या,

अवैध संबंधों के शक में इंजीनियर पति ने अपनी गर्भवती पत्नी की गला दबाकर की हत्या,

 प्रकाश प्रभाव न्यूज़

रिपोर्ट, विक्रम पांडे

अवैध संबंधों के शक में इंजीनियर पति ने अपनी गर्भवती पत्नी की गला दबाकर की हत्या, दो दिन बात कोतवाली पहुँच कर कबूला अपना गुनाह

ग्रेटर नोएडा सेक्टर बीटा दो कोतवाली क्षेत्र में एक इंजीनियर पति ने अवैध संबंधों के शक में अपनी गर्भवती पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी और उसके शव को एक सन्दूक छिपा दिया।  वह दो दिन तक शव को ठिकाने लगाने के फिराक में लगा रहा, जिसमे नाकाम होने पर खुद कोतवाली पहुंचा, जहां अपना जुर्म कबूलकर आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

पेशे से इंजीनियर 28 वर्षीय रजनीकांत दीक्षित ने 24 वर्षीय खुशी से दस माह पूर्व लव मैरिज की थी। और ग्रेटर नोएडा के अल्फा-2 में किराए के मकान जी-371 में रह रहे थे। आज दोपहर रजनीकांत दीक्षित कोतवाली बीटा-2 पहुंचा और उसने अपनी पत्नी कि हत्या का गुनाह कबूल करते हुए कहा कि उसकी पत्नी का किसी और से संबंध था जिसकी वजह से उसने उसे मार दिया। इसके बाद कोतवाली में हड़कंप मच गया। पुलिस कि एक टीम रजनीकांत दीक्षित को लेकर घर पहुंची और उसकी निशानदेही पर सन्दूक से खुशी काशव बरामद कर उसे पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

विशाल पांडे ने बताया कि रजनीकांत दीक्षित को हिरासत में लेकर पूछताछ कि है। तो पता चला कि  21 फरवरी को जब रजनीकांत ड्यूटी कर घर पहुंचा, तो उसने घर से बाहर निकलते हरियाणा के रहने वाले एक युवक को अपने घर से निकलते देखा। उसके बारे में अपनी पत्नी से पूछा, तो इसे लेकर दोनों में विवाद हो गया। इसके साथ ही आरोपी को यह भी शक था कि पत्नी की कोख में पल रहा बच्चा किसी और का है। रजनीकांत बताया कि अवैध संबध के शक में 22 फरवरी की सुबह उसने अपनी पत्नी की गला दबाकर हत्या कर दी। इसके बाद वह दो दिन तक शव के पास रहा। उसने शव को घर में बने सीवर के मैनहोल को खोदकर उसमें शव दबाने की कोशिश की, लेकिन नाकाम रहा। दो दिन में बुरी तरह सड़ चुकी लाश की दुर्गंध सह नहीं सका तो उसने पुलिस थाने जाकर आत्मसमर्पण कर अपना गुनाह कबूल कर लिया।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *