Saturday 23 Oct 2021 16:27 PM

Breaking News:

कोयले की कमी से उपजा बिजली संकट के गहराने से चार घंटे की कटौती का सामना करना पड़ा रहा ग्रेटर नोएडा वासियो को

कोयले की कमी से उपजा बिजली संकट के गहराने से चार घंटे की कटौती का सामना करना पड़ा रहा ग्रेटर नोएडा वासियो को

PPN NEWS

नोएडा

Report, Vikram Pandey

कोयले की कमी से उपजा बिजली संकट के गहराने से चार घंटे की कटौती का सामना करना पड़ा रहा ग्रेटर नोएडा वासियो को  


कोयले की कमी से उपजे बिजली संकट ने ग्रेटर नोएडा के लोगों की ही मुसीबत बढ़ा दी है। सोमवार को लोगों को चार घंटे की कटौती का सामना करना पड़ा रहा है। बिजली संकट के और गहराने की आशंका जताई जा रही है। मांग के सापेक्ष बिजली की उपलब्धता में गिरावट के कारण औद्योगिक और आवासीय क्षेत्रों में बिजली कटौती की संभावना है। बिजली का उत्पादन पटरी पर आने के बाद ही कटौती रुकेगी।एनपीसीएल ने बिजली की खपत कम करने के लिए उपभोक्ताओं को ईमेल और व्हाट्सएप के जरिए संदेश भेजे हैं।

ग्रेटर नोएडा में जरूरत के हिसाब से बिजली उपलब्ध नहीं है। शहर में बिजली की मांग करीब 400 से 400 मेगावाट है, लेकिन उपलब्धता 100 मेगावाट से भी कम है। कंपनी के अधिकारियों ने स्पष्ट किया है कि मांग और उपलब्धता में अंतर के कारण बिजली कटौती होगी। दो से पांच घंटे बिजली कटौती रहेगी।

अलग-अलग सेक्टरों में अलग-अलग समय पर कटौती की गई। शाम के समय औद्योगिक क्षेत्रों में भी बिजली गुल रही। कुछ इलाकों में दो से तीन घंटे बिजली गुल रही।वही केबल क्षतिग्रस्त होने से ग्रेटर नोएडा वेस्ट के गौर सिटी 1 व 2 में करीब डेढ़ घंटे तक बिजली आपूर्ति प्रभावित रही।

एनपीसीएल के मुताबिक ग्रामीण क्षेत्रों में चार घंटे तक की कटौती की गई है। फीडर वाइज यह कटौती की गई है। इसके अलावा शहरी क्षेत्रों में दो से तीन घंटे की कटौती की गई है। औद्योगिक क्षेत्रों में शाम सात बजे के बाद कटौती की गई। सेक्टर 36 के सुरजीत राय ने बताया कि शाम के समय बिजली कटौती हुई है।

इसके चलते परेशानी का सामना करना पड़ा। कंपनी को रोस्टर जारी करना चाहिए ताकि लोग कटौती के लिए पहले से तैयार रहें। डेल्टा-2 निवासी आलोक नागर ने बताया कि दिन में करीब तीन तक बिजली कटौती हुई। इससे लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *