Friday 04 Dec 2020 20:32 PM

Breaking News:

दो गज की दूरी के पालन के साथ मनाया नागपंचमी का त्योहार

दो गज की दूरी के पालन  के साथ मनाया  नागपंचमी का त्योहार

प्रकाश प्रभाव न्यूज़

लखनऊ।

आरिफ मंसूरी

दो गज की दूरी के पालन  के साथ मनाया  नागपंचमी का त्योहार

 मोहनलालगंज , लखनऊ ।  नागपंचमी  का त्योहार विगत  वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष काफी फीका रहा क्यो कि   देश मे फैली कोरोना वायरस की वैश्विक  महामारी ने नागपंचमी के त्योहार का रंग फीका हो गया ।

मोहनलालगंज विकास खंड क्षेत्र सहित अनेकों गावों  में  सावन के महीने में पड़ने वाले बाग बगीचों में झूलों की बहार,कजरी गीतों की रौनक सहित अलग अलग स्थानो पर लगने वाले मेला, हाट,कबड्डी प्रतियोगिता आदि   सभी कार्यक्रमों कोरो ना के   कारण लगे प्रतिबंध त्योहार  फीका  नजर आ रहा है  दो गज की दूरी व सरकारी गाइड लाइन का पूर्ण रूप से लोग  पालन करने में जुटे है।

शिवालयों में पहुच बाबा शिव का पूजन करने में भी पालन हो रहा है ,लेकिन आस्था  नागदेवता को दूध  पिलाने कि भी पूरी नहीं हो सकी।  अलग अलग प्रसिद्ध तीर्थो स्थानों  व सरोवरों के किनारे  सहित गांवो में लगने वाले मेलो पर ला क डाउन के कारण व कोरोना की महामारी के चलते प्रतिबंध ने नागपंचमी के पर्व को फीका कर दिया । 


छोटी छोटी बच्चियों ने बनाई रंग बिरंगी गुड़िया 

भारत के हर गांव व शहर में नागपंचमी के पर्व खाशा लोकप्रिय है और लोग विभिन्न प्रकार से अपने अपने यहां की परम्पराओ के हिसाब से मनाते है वही मोहन लाल गंज क्षेत्र के गांवो में बच्चे छूल के डंडों व शीशम की टहनियों से बहन बेटियों द्वारा फेंकी गई चौराहों पर रंग बिरंगी गुड़ियों को पीटकर  उत्साह  पूर्वक मनाते है ,लेकिन अबकी बार दो गज की दूरी के कारण दर्जनों बच्चियों ने रंग बिरंगी गुड़िया तो बनाई लेकिन उन्हें लेकर सभी बाहर नही निकली बस दो चार बच्चे व दो तीन बच्चियां ही चौराहों पर पहुची और गुड़ियों को फेक कर वापस घरो को चली आयी ।  सखी सहेलियों से मिलने की कमी को मन मसोस कर वापस घर को लौट आयी  

 कोरोना की महामारी के तेजी से फैल रहे संकमण के कारण जगह जगह पर लगने वाले नागपंचमी के दिन मेला हाट स्थगित होने से स्थान   सुनसान दिखती पड़े और जो लोग साल में लगने वाले नागपंचमी के मेले में अपने यारो दोस्तो सहित अन्य लोगो से मिलते थे उन इरादों पर भी पानी फिर गया और छोटे छोटे बच्चों सहित बड़े बुजुर्गो में भी मायूसी दिखाई दी।

विगत वर्षो की भांति इस वर्ष भी नागपंचमी के त्योहार में लोगो के घरो में अनेक प्रकार के पकवान सभी के घरो की गृहणियों ने बनाकर तैयार किया और लोगो ने घर मे रहकर उनका जमकर लुफ्त भी उठाया,  मेले में ठेले की दोस्तो के संग चाट बतासे व पहलवानी देखने से पकवानों की रौनक भी फीकी रही और लोगो के घरो में बेटियों बहनों के न आने का मलाल भी सभी के चेहरों पर साफ तौर पर दिखाई दिया।

दो गज की दूरी का पालन करते हुए लोगो ने नागपंचमी के पर्व अपने अपने घरों में परिवारों संग हसी खुशी के साथ मनाया और नागदेवता से कोरोना की वैश्विक महामारी को देश से दूर  भगाने की प्रार्थनाएं की,तथा दूध पिलाकर नाग देवता से मन की  मन्नते को पूरा करने की प्रार्थना  भी की गई । त्योहार को परिवार संग खुश हाली पूर्वक मनाया गया ।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *