Tuesday 24 Nov 2020 15:05 PM

जैन धर्म के तैसीवे तीर्थंकर1008 भगवान पार्स्वनाथ का मोक्क्ष कल्याणक व भगवान नेमी नाथ का जन्मोत्सव संम्पन हुआ

जैन धर्म के तैसीवे तीर्थंकर1008 भगवान पार्स्वनाथ का मोक्क्ष कल्याणक व भगवान  नेमी नाथ का जन्मोत्सव संम्पन हुआ

prakash prabhaw news

महमूदाबाद (सीतापुर)।

जैन धर्म के तैसीवे तीर्थंकर1008 भगवान पार्स्वनाथ का मोक्क्ष कल्याणक व भगवान  नेमी नाथ का जन्मोत्सव संम्पन हुआ


महमूदाबाद (सीतापुर)।

जनपद सीतापुर के महमूदाबाद में  स्थानीय 1008 शांतिनाथ दिगम्बर जैन मंदिर में जैन धर्म के 23वें तीर्थंकर भगवान पार्स्वनाथ का निर्वाण महोत्सव मनाया गया। जिसमे सोशल डिस्टेसिंग के साथ जैन श्रद्धालुओं ने मंदिर पहुॅंचकर निर्वाण लाडू अर्पित किया।

वही पर मंदिर में विराजमान जैन साध्वी आर्यिका 105 विकाम्या श्री माता ने कहा कि मोक्ष सप्तमी जैन धर्म का प्रमुख पर्व है। जैन धर्म के अनुसार इस दिन तेईसवें तीर्थंकर पाश्र्वनाथ भगवान ने शाश्वत तीर्थ सम्मेद शिखर पारसनाथ जो झारखण्ड के गिरिडीह जिले में स्थित हैे ।

मोक्ष अर्थात् मुक्ति पद को प्राप्त किया था। इसी कारण श्रावण शुक्ला सप्तमी के दिन मोक्षकल्याणक भक्ति व उत्सवपूर्वक मनाते हैं। भगवान पार्श्वनाथ ने जीवों के कल्याण का मार्ग बताया है। भगवान पार्श्वनाथ के बताये मार्ग पर चलकर ही संसार के सभी प्राणी अपना और दूसरों का भी कल्याण कर सकते हैं। भगवान पार्श्वनाथ ने अनेको भावों में धारण किया गया क्षमासुखी जीवन का यही एक मार्ग है।

मंदिर में मौजूद श्रद्धालुओं ने वैदिक मंत्रोच्चार के साथ निर्वाण लाडू भगवान को अर्पित किया। इस दौरान कोमल जैन, नीरज जैन,नेमीचन्द्र जैन, अनुज जैन, योगेश जैन आदि लोग उपस्थित रहे।


रिपोर्ट  ब्यूरो मनोज कुमार के साथ अनुज जैन महमूदाबाद, सीतापुर।


Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *