Wednesday 03 Mar 2021 1:08 AM

Breaking News:

अब कोरोना मरीजों को राज्य सरकार प्रोटोकाॅल की शर्तो के साथ होम आइसोलेशन की देगी अनुमति

अब कोरोना मरीजों को राज्य सरकार प्रोटोकाॅल की शर्तो के साथ होम आइसोलेशन की देगी अनुमति

प्रकाश प्रभाव न्यूज़ 

लखनऊ। 

२०.०७.२०२० 

ब्यूरो, शारिक की रिपोर्ट 


अब कोरोना मरीजों को राज्य सरकार प्रोटोकाॅल की शर्तो के साथ होम आइसोलेशन की देगी अनुमति

रोगी और उसके परिवार को होम आइसोलेशन, के प्रोटोकाॅल का पालन करना अनिवार्य होगा

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (cm yogi aditya nath)  जी ने कहा है कि बड़ी संख्या में  कोविड-19 (Covid - 19) के लक्षणरहित संक्रमित लोग बीमारी को छुपा रहे हैं, जिससे संक्रमण बढ़ सकता है। इसको देखते हुए राज्य सरकार एक निर्धारित प्रोटोकाॅल के शर्तों के साथ होम आइसोलेशन की अनुमति देगी। अब रोगी और उसके परिवार को होम आइसोलेशन के प्रोटोकाॅल का पालन करना अनिवार्य  होगा। आपको बताते चले कि राज्य सरकार के पास कोविड हाॅस्पिटल में पर्याप्त संख्या में कोविड बेड्स मौजूद हैं।

मुख्यमंत्री योगी ने सोमवार को अपने सरकारी आवास पर एक बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा की । उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था को लागू करने के साथ-साथ लोगों को कोविड-19 से बचाव के बारे में सतत जागरूक किया जाए। इस सम्बन्ध में एक व्यापक जागरूकता अभियान संचालित किया जाए। जागरूकता अभियान में प्रिंट,  इलेक्ट्राॅनिक व सोशल मीडिया सहित बैनर, होर्डिंग, पोस्टर तथा पब्लिक एड्रेस सिस्टम का उपयोग किया जाए। उन्होंने मास्क के अनिवार्य  रूप से उपयोग तथा सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन कराए जाने के निर्देश भी दिए है। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि बेहतर इम्युनिटी कोविड-19 से बचाव के लिए जरूरी है। इस सम्बन्ध में भी जनता को जागरूक किए जाने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि लोगों को ‘आरोग्य सेतु’ Aryogya Setu App एप तथा ‘आयुष कवच-कोविड’ Ayush Kavach App एप को डाउनलाड करने के लिए प्रोत्साहित किया जाए। जनता को यह भी बताया जाए कि ‘आयुष कवच-कोविड’ एप में प्रदान की गई जानकारी को अपनाकर इम्युनिटी में वृद्धि की जा सकती है।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि डोर-टू -डोर सर्वे एक आवश्यक प्रक्रिया है, जिसके अन्तर्गत मेडिकल स्क्रीनिंग के माध्यम से कोविड-19 के रोगियों को चिन्हित करने में बड़ी सहायता मिल रही है। उन्होंने  इस कार्य को आगे जारी रखे जाने के निर्देश देते हुए कहा कि कोरोना की दृष्टि से संदिग्ध पाए गए व्यक्तियों की रैपिड एन्टीजन टेस्ट के द्वारा जांच की जाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर आई0एम0ए0 तथा नर्सिंग एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ बैठक की जाए। 

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड अस्पतालों में सभी आवश्यक सुविधाएं सुनिश्चित की जाएं। एल-1 कोविड चिकित्सालय में ऑक्सीजन  तथा एल-2 कोविड अस्पताल में ऑक्सीजन के साथ वेंटिलकी व्यवस्था रहनी चाहिए। कोविड तथा नाॅन कोविड चिकित्सालयों के लिए पृथक-पृथक एम्बुलेंस की व्यवस्था होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि सभी अस्पतालों में साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दिया जाए। यह सुनिश्चित किया जाए कि चिकित्सक नियमित रूप से राउण्ड लें तथा पैरामेडिक्स रोगियों की माॅनिटरिंग करे।  

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *