Sunday 26 Jun 2022 14:14 PM

चैन स्नैचिंग और मोबाइल लूटने का शतक बनाने वाला लुटेरा पुलिस मुठभेड़ के बाद पैर में गोली लगने से हुआ घायल

चैन स्नैचिंग और मोबाइल लूटने का शतक बनाने वाला लुटेरा पुलिस मुठभेड़ के बाद पैर में गोली लगने से हुआ घायल

crime news, apradh samachar

PPN NEWS

नोएडा

चैन स्नैचिंग और मोबाइल लूटने का शतक बनाने वाला लुटेरा पुलिस मुठभेड़ के बाद पैर में गोली लगने से हुआ घायल  


नोएडा की कोतवाली फेज वन पुलिस ने सुबह शाम राहगीरों से मोबाइल छीनने वाले शातिर लुटेरे को सेक्टर 14 के गंदे नाले के पुश्ता पर हुए मुठभेड़ के बाद घायल अवस्था में गिरफ्तार किया है. पैर में गोली लगने के कारण घायल बदमाश को नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. बदमाश की पहचान अलीगढ़ निवासी फराज के रुप में हुई है उसके कब्जे से पुलिस ने लूट के 5 मोबाइल, स्कूटी, तमंचा और अन्य सामान बरामद किया है. 


पुलिस की गिरफ्त में गोली लगने से घायल फराज को इलाज के लिए नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. एडिशनल डीसीपी रणविजय सिंह ने बताया कि नोएडा में लगातार हो रही चैन स्नैचिंग और मोबाइल लूटने की घटनाओं को रोकने के लिए जब पुलिस ने इलेक्ट्रॉनिक सविलांस का सहारा लिया तो 8 सीसीटीवी फुटेज में चैन स्नैचिंग करता हुआ फराज नजर आया.  इसके बाद से ही लगातार पुलिस से उसकी  गिरफ्तारी का प्रयास कर रही थी. जब हरौला सेक्टर 5 क्षेत्र में पुलिस गश्त कर रही थी, उसी दौरान स्कूटी पर सवार पर फराज दिखाई दिया.  पुलिस ने जब से रोकने का प्रयास किया तो वह पुलिस को चकमा देकर भाग खड़ा हुआ. पुलिस ने उसका पीछा किया और सेक्टर 14 गंदे नाले के पुश्ते पर उसे पर उसे घेर लिया,  अपने आप को गिरा देख फराज ने पुलिस टीम पर फायरिंग करना शुरू कर दिया,  पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली फराज के पैर में लगी और वह घायल होकर गिर पड़ा. पुलिस ने उसे घायल अवस्था में उसे दबोच लिया. 


एडिशनल डीसीपी ने बताया कि पुलिस ने घायल फराज फौरन दबोच कर इलाज के लिए जिला अस्पताल भेज दिया.  पुलिस ने फराज के कब्जे से 5 मोबाइल फोन बरामद किए हैं,  इनमें से तीन मोबाइल फोन सेक्टर 142, सेक्टर 58 और कोतवाली फेस-1  क्षेत्र से लूटे गए थे. फराज ने नोएडा और एनसीआर क्षेत्र में 100 से ज्यादा चेन और मोबाइल लूट की घटनाओं को अंजाम दे चुका है. एडीसीपी ने बताया कि वर्तमान में वह सेक्टर 39 कोतवाली क्षेत्र के स्थित सलारपुर में किराए में रह रहा था वह अपने ठिकाने को चार-पांच महीने में बदल देता था.

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *