Tuesday 24 Nov 2020 15:29 PM

अंग्रेजी जमाने की सजा देने का आदी एक वर्दीधारी दरोगा

अंग्रेजी जमाने की सजा देने का आदी एक वर्दीधारी दरोगा

प्रकाश प्रभाव न्यूज 


कौशाम्बी। जुलाई 26, 20


रिपोर्ट- राहुल यादव, पिपरी 


अंग्रेजी जमाने की सजा देने का आदी एक वर्दीधारी दरोगा


कौशाम्बी। अंग्रेजों की गुलामी से देश आजाद हुए सात दशक से अधिक बीत चुके हैं लेकिन आज भी पुलिस की मानसिकता अंग्रेजी हुकूमत की नहीं बदल सकी है। वर्तमान में भी मंझनपुर कोतवाली में एक सनकी दरोगा की तैनाती है जो आम जनता को अंग्रेजी जमाने की सजा देने के आदी हैं।


उनकी ड्यूटी के दौरान गली चौराहा सड़क पर ठेलिया गोमती छोटी दुकान के सहारे कोरोना वायरस की महामारी में अपने परिवार का जीविकोपार्जन चलाने वाले सभ्य समाज के लोगो को बूट से मारना उक्त दरोगा की चर्चा आम हो गयी है।


मंझनपुर क्षेत्र में राह चलता कोई सभ्य शरीफ व्यक्ति यदि दिखाई पड़ा तो उसे गाली - गलौज डंडे से पीटने के साथ-साथ अंग्रेजों की तरह बूट पहने - पहने लातों से मारना यह शुरू कर देते हैं।


जिससे लोगों के बीच जबरदस्त आक्रोश है लेकिन अंग्रेजी मानसिकता की यह आदत लोगो के बीच बहुत दिन तक नहीं चलता है और कभी जनता आमने सामने आ जाती है इसलिए जनता आमने सामने आ जाए उसके पहले अंग्रेजी गुलामी कि पुलिसिया भाषा छोड़कर सभ्य समाज की भाषा इन्हें भी सीखनी होगी।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *