Friday 04 Dec 2020 7:28 AM

बाग की रखवाली कर रहे बुजुर्ग की लाठी से पीटकर हत्या

बाग की रखवाली कर रहे बुजुर्ग की लाठी से पीटकर हत्या

Prakash Prabhaw News

पीलीभीत न्यूज


बाग की रखवाली कर रहे बुजुर्ग की लाठी से पीटकर हत्या

पीलीभीत(नीलेश चतुर्वेदी) : आम तोड़ने का विरोध करना बुजुर्ग को भारी पड़ गया। पड़ोसी खेत मालिक ने अपने बेटों के साथ बाग की रखवाली कर रहे बुजुर्ग पर हमला करते हुए लाठी डंडे से पीटकर बेसुध कर दिया और भाग गए। परिवार वालों ने उन्हें जिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया। इलाज के दौरान बुजुर्ग मौत हो गई। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम को भिजवाया। वारदात को अंजाम देने वाले चारों नामजद आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। 

घटना माधोटांडा थाना क्षेत्र के बरुआ कुठारा गांव में रविवार शाम की है। गांव निवासी 65 वर्षीय रामभरोसे का गांव में ही आम का बाग है। वह बाग की रखवाली खुद करते हैं। आम के कुछ पेड़ों की डालें पड़ोस के शंकरलाल के खेतों की तरफ झुकी हुई हैं। आम तोड़ने को लेकर आए दिन उनका पड़ोसी से विवाद होता रहता है। रविवार की शाम को भी शंकरलाल और उसके बेटे खेत की तरफ आम के पेड़ की डाल से आम तोड़ने लगे। यह देखते ही रामभरोसे ने विरोध करते हुए उन्हें डांटा। इसके बाद पिता-पुत्रों ने मिलकर बुजुर्ग पर हमला कर दिया। दोनों लाठी डंडे से पिटाई कर बुजुर्ग को बेहोशी की हालत में छोड़कर भाग गए। घटना की सूचना मिलने पर परिवार वाले खेत पर पहुंचे और गंभीर रुप से घायल रामभरोसे को जिला अस्पताल में भर्ती कराया। वहां देर रात इलाज के दौरान बुजुर्ग की मौत हो गई। सोमवार की सुबह पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया। एसएसआई सतीश चंद बाजपेई ने बताया कि बेटे हरीशचंद की तहरीर पर शंकरलाल और उसके तीन बेटे हरनाम, पप्पू और विनोद पर जानलेवा हमले की रिपोर्ट दर्ज की गई थी। बुजुर्ग की मौत के बाद इसमें गैर इरादतन हत्या की धारा बढ़ा दी गई है। उधर, बुजुर्ग की मौत के बाद उनके परिवार में कोहराम मच गया है। 

कई घंटे तो इलाज पाने में ही बीत गए

हमले में घायल रामभरोसे को गंभीर चोटें आई थीं। मगर परिवार की मानें तो उन्हें तत्काल इलाज नहीं मिल पाया। सूचना करने के बाद पहले तो एंबुलेंस आने में ही देर लग गई। इसके बाद एंबुलेंस से घायल को पूरनपुर सीएचसी ले जाया गया। वहां पुलिस केस बताकर डॉक्टरों ने थाने के मेडिकल संबंधी कागजात मांग लिए। न होने पर इलाज नहीं किया। इसके बाद उन्हें एंबुलेंस से वापस माधोटांडा लाया गया। फिर पुलिस से मेडिकल के लिए कागजात तैयार कराए गए। तब जाकर जिला अस्पताल में उन्हें भर्ती किया गया। अगर समय से इलाज मिलता तो शायद बुजुर्ग की जान बच सकती थी।

दिन भर चली दबिश के बाद नामजद पकड़े गए

बुजुर्ग की पीटकर हत्या करने के मामले में नामजद किए गए चारों आरोपियों को पकड़ने में पुलिस को सफलता मिल गई। दिन भर चली दबिशों के बाद पुलिस ने उन्हें हिरासत में ले लिया है। उनसे थाने में पूछताछ की जा रही है। मंगलवार को उनका चालान किया जाएगा।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *