Sunday 07 Aug 2022 21:19 PM

Breaking News:

देश की तस्वीर बदलने के लिए हमें अपने पंचायत की बदलनी होगी

देश की तस्वीर बदलने के लिए हमें अपने पंचायत की बदलनी होगी

प्रकाश प्रभाव न्यूज़



कौशाम्बी। 30/09/2021



मिथलेश कुमार (मोनू साहू)

असि0 ब्योरों कौशाम्बी




देश की तस्वीर बदलने के लिए हमें अपने पंचायत की बदलनी होगी तस्वीर



दुनिया के सबसे युवा स्तम्भकार के रूप में अपनी पहचान बनाने में कामयाब



जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर ने स्वागत समारोह का किया आयोजन



हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड तथा इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में अमित राजपूत का नाम दर्ज


कौशाम्बी। जनपद मुख्याल मंझनपुर में जिला पंचायत कार्यालय में गुरूवार को हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड तथा इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने वाले अमित राजपूत का जनपद के प्रथम आगमन पर जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर ने स्वागत किया है।


 रत्नावली सभागार में उनके आगमन के उपलक्ष्य में स्वागत समारोह का आयोजन किया गया था, जिसमें जिले के काफी संख्या में लोगो ने भाग लिया है। 

 

जिला पंचायत के रत्नावली सभागार में जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर व पूर्व ब्लॉक प्रमुख जितेन्द्र सोनकर की अगुवाई में हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड तथा इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में नाम दर्ज कराने वाले अमित राजपूत का पुष्पगुच्छ एवं  जिला पंचायत अध्यक्ष मूर्ति देकर सम्मानित किया है। मंच के माध्यम से अमित राजपूत ने कहा कि समाज और देश का मौलिक परिवर्तन पंचयती राज व्यवस्था के तहत ही प्राथमिक स्तर पर सम्भव है। प्रधान और पंचायती राज व्यवस्था के नायको को चाहिए कि देश की तस्वीर बदलने के लिए हमें अपनी पंचायत की तस्वीर पहले बदलनी होगी। तभी देश बदल सकता है। साथ ही जिला पंचायत अध्यक्ष कल्पना सोनकर एवं जितेन्द्र कुमार सोनकर उनके बारे में बताया अमित राजपूत का परिचय भारतीय जनसंचार संस्थान से प्रशिक्षित 2014-15 बैच से प्रशिक्षित पत्रकार है। उन्होने अपनी कैरियर की शुरूआत आकाशवाणी महा निदेशल नई दिल्ली से प्रधानमंत्री के विशेष कार्यक्रम से की थी। ब्रॉडकास्टर एवं स्तम्भकार अमित राजपूत ने विश्व रिकॉर्ड बनाया है। लंदन के हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने अमित राजपूत के नाम विश्व के सबसे युवा स्तम्भकार होने का रिकॉर्ड दर्ज किया है। 


इसी के साथ स्तम्भकार अमित राजपूत की ख्याति अंतर्राष्ट्रीय पटल पर फैल गयी है और उन्होंने दुनियाभर में भारत का मान बढ़ाया है।


दिलचस्प है कि आईआईएमसी के 2014-15 बैच से प्रशिक्षित पत्रकार अमित राजपूत को न सिर्फ़ हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड ने उन्हें दुनिया का सबसे युवा स्तम्भकार घोषित किया है, बल्कि इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड ने भी उनका नाम अपनी रिकॉर्ड बुक में दर्ज़ किया है। इस तरह इण्डिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड तथा हार्वर्ड वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज कराने वाले अमित राजपूत भारत और भारत के बाहर वैश्विक स्तर पर बतौर दुनिया के सबसे युवा स्तम्भकार के रूप में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुए हैं।

अमित राजपूत ने नई दिल्ली स्थित भारतीय जनसंचार संस्थान से पत्रकारिता का प्रशिक्षण लेने के बाद अपने कॅरिअर की शुरुआत आकाशवाणी-दिल्ली में प्रधानमंत्री के विशेष कार्यक्रम ‘मन की बात’ के साथ की थी। आकाशवाणी में रहते हुए ही इन्होंने एफएम रेनबो इण्डिया तथा एफएम गोल्ड में भी अपनी सेवाएँ दीं। इसके साथ ही ये प्रसार भारती द्वारा आकाशवाणी व दूरदर्शन के बीच क्रॉस चैनल पब्लिसिटी व क्रॉस मीडिया पब्लिसिटी के गठित प्रोग्राम प्रमोशन यूनिट की स्क्रीनिंग कमेटी के सदस्य भी रहे। इसके बाद विभिन्न संस्थानों में पाँच वर्ष से अधिक समय से हाल ही तक अमित मेनस्ट्रीम मीडिया में सक्रिय रहे, किन्तु इन दिनों वह स्वतंत्र लेखन में सक्रिय हैं। आकाशवाणी से इनका जुड़ाव आज भी विभिन्न कार्यक्रमों के लेखन मसलन रेडियो रूपक, प्रोमो व नाट्य-लेखन आदि के जरिए लगातार बना हुआ है। उत्तर प्रदेश के जनपद-फतेहपुर के कस्बा खागा में जन्में अमित राजपूत की ब्रॉडकास्टर व स्तम्भकार के अलावा एक संवेदनशील लेखक और नाटककार के रूप में भी पहचान है। अंतर्वेद प्रवर, जान है तो जहान है, आरोपित एकांत तथा हाल ही में प्रकाशित हुई- कोरोनानामा इनकी चर्चित पुस्तकें हैं। रंगकर्म में गहरी दिलचस्पी रखने वाले विश्व के सबसे युवा स्तम्भकार अमित राजपूत का नाटक- अनिरुद्ध अपने मंचन से पूर्व ही लगातार चर्चा में बना हुआ है। अमित के नाम विश्व रिकॉर्ड कायम होने से आईआईएमसी परिवार ने ख़ुशी जताई है। इस कार्यक्रम में अधिकारी सहित डा0 अरूण केसरवानी, अजय पाण्डेय, संजय भार्गव, अजय सिंह पटेल, काफी संख्या में लोग मौजूद रहें।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *