Friday 04 Dec 2020 7:22 AM

त्रिपाल के नीचे रहने को मजबूर दीक्षितपुरवा के पात्र व्यक्ति।

त्रिपाल के नीचे रहने को मजबूर दीक्षितपुरवा के पात्र व्यक्ति।

तूफान में ढह गया था आशियाना किसी ने पूछा नहीं हाल।



त्रिपाल के नीचे रहने को मजबूर दीक्षितपुरवा के पात्र व्यक्ति।


रामपुर मथुरा , सीतापुर।

जनपद सीतापुर की तहसील महमूदाबाद के ब्लॉक रामपुर मथुरा क्षेत्र में जहाँ एक तरफ सरकार हर झोपड़ी में रहने वाले लोगों को छत मोहैया कराने की बात करती है ।वहीं दूसरी ओर जिन व्यक्तियों का आशियाना आंधी तूफान में उड़ गया है। उनका हाल आज तक किसी अधिकारी ,कर्मचारी सहित अन्य समाजसेवियों  ने भी पूँछा नही हाल कि कैसे हो रहा जीवन यापन । वही आपको बता दें कि रामपुर मथुरा क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम पंचायत गवाह डीह चिमलई के दीक्षित पुरवा गांव में तेज आंधी और बारिश की वजह से दिलीप कुमार दीक्षित पुत्र लाल मन दिक्षित की झोपड़ी गिर गई थी। लेकिन आज तक कोई भी जनप्रतिनिधि या सक्षम अधिकारी मौके की जांच करने नहीं आया है। झोपड़ी में निवास करने वाले इस गरीब व्यक्ति के सौभाग्य की बात यह है कि झोपड़ी के गिरने से परिवार का कोई सदस्य घायल नहीं हुआ। ग्राम पंचायत के प्रधान शंकर लाल विश्वकर्मा के बारे में आपको बता दें पीड़ित का कहना है कि ग्राम प्रधान सरकार की धनराशि को चूना लगाने में  पीछे नहीं हटते ।फिर भी विकास कार्य पीछे। ग्राम पंचायत में ग्राम प्रधान द्वारा कुछ ऐसे लोगों को आवास दिए गए हैं । जिनके पास 50 बीघे से कम जमीन नहीं होगी ।और जो वास्तव में झुग्गी झोपड़ी में रहते हैं। वो लोग वास्तव में आवास के पात्र हैं ।और उनका नाम आज तक किसी भी पात्रता सूची में नहीं आ पाया है ।जो व्यक्ति सिर्फ मजदूरी करके अपना जीवन यापन करते हैं वह आज तक छत के हिस्सेदार नहीं बन पा रहे है।गरीब पीड़ित का कहना है कि सरकार के द्वारा दी जाने वाली योजनाओं को क्या सिर्फ कागजों में ही दिखाते रहेंगे । या फिर गरीब लोगों को सरकारी योजनाओं का लाभ भी मिलेगा।


रिपोर्ट मनोज कुमार सीतापुर।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *