Friday 04 Dec 2020 6:41 AM

माइनरों की साफ सफाई बार बार पानी न आता एक बार ।

माइनरों की साफ सफाई बार बार पानी न आता एक बार ।

Prakash Prabhaw News

माइनरों की साफ सफाई बार बार पानी न आता एक बार 

महमूदाबाद , सीतापुर।

जनपद सीतापुर की तहसील महमूदाबाद के ब्लॉक पहला क्षेत्र में कई माइनरों में पानी नही आ रहा है। जिससे ग्रामीण इलाकों में धान की रोपाई करने में किसानों को काफी ज्यादा प्रयास कर  बोरिंग पर इंजन बांधकर पानी निकालकर खेतो की भराई की जा रही है। और बोरिंग पर इंजन बांधते समय मौत का भी सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि बोरिंग की खाई इतनी गहरी कर दी गई है। कि यदि कोई ब्याकित ऊपर से नीचे गिर जाये। तो उसकी मौके पर ही मौत हो सकती है। 

दूसरी बात यह है कि जब भी इंजन को खाई में उतारना या निकलना पड़ता है तो नौ दस लोगो को बुलाकर लाना पड़ता है । नही तो इंजन पलटने के साथ साथ इंजन के नीचे दब भी सकता है। मगर किसानों की दर्द को सुनने वाला कोई दिखाई नही पड़ रहा है। 

प्रशासन जे द्वारा माइनरों की साफ सफाई तो समय  समय पर करवाई जा रही है।लेकिन इन ग्रामणी इलाको में निकलने वाली माइनरों में पानी छोड़ा नही जा रहा।

ब्लॉक पहला के अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत सिरौली , फिरोजपुर ,लालापुर ,न्यायमतपुर लबरहा तुरसेना सैर ,कोरार आदि   क्षेत्र के किसानों का कहना है कि यदि इन ग्रामीण इलाकों की छोटी छोटी माइनरों में भी प्रशासन पानी छोड़वा दे तो किसानों के फसलो की समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। वही सिरौली में कुछ छोटे बड़े किसानों से जब बात की गई तो बताया कि साहब पहले इन्ही माइनरों से क्षेत्र के लगभग सभी किसान अपने अपने खेतों की सिंचाई किया करते थे। 

 अब करीब दस , बारह वर्ष बीते जा रहे है। और इन माइनरों में पानी देखने को भी नही मिलता है। इसी हम सभी क्षेत्रीय किसान अपनी फसलो में अच्छी उपज की पैदावार भी नही कर पा रहे है। यदि शासन प्रशासन किसानों पर थोडी ही मेहरबानी कर दे तो किसानों के चेहरे फसल की चमक की तरह ही चमकने लगेंगे। और जो खेतो की सिंचाई करने के लिए सात , आठ सौ फुट पाइप लेकर आना पड़ता है ।इसकी भी समस्या से निजाद मिल जाएगी। क्योकि जब माइनरों में ही पानी आने लगेगा तो किसान माइनरों के पानी से अपने खेतों की सिंचाई करने लगेंगे। और उसी पानी से इधर उधर धूम रहे आवारा जानवरो को भी पानी का लाभ प्राप्त होने लगेगा।

रिपोर्ट मनोज कुमार सीतापुर ।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *