Saturday 23 Oct 2021 15:42 PM

Breaking News:

गौ सेवा करने वाले को प्राप्त होती है श्री कृष्ण की कृपा ---आचार्य प्रचंड देव

गौ सेवा करने वाले को प्राप्त होती है श्री कृष्ण की कृपा ---आचार्य प्रचंड देव

प्रतापगढ 



13.10.2021



रिपोर्ट--मो.हसनैन हाशमी



गौ सेवा करने वाले को प्राप्त होती है श्री कृष्ण की कृपा  ----आचार्य प्रचण्ड देव



 प्रतापगढ़ जनपद के ब्लॉक सांगीपुर की मंगापुर बाजार में मां भगवती दुर्गा भवानी का अलौकिक पंडाल सजाया गया है।मंगापुर व्यापार मंडल के सहयोग से नव दुर्गा पूजा समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम के षष्टम दिवस पर श्रीधाम अयोध्या से पधारे कर्मकांडी विद्वान पंडित सूरज शास्त्री ने मुख्य यजमान पंडित श्याम सुंदर मिश्र एवं उनकी धर्मपजगू श्रीमती लालमति मिश्रा द्वारा पांडाल में विराजमान देवी देवताओं सहित मां भगवती दुर्गा का विधि विधान से पूजन कराया।

      कार्यक्रम के षष्टम दिवस पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम की पावन नगरी श्रीधाम अयोध्या से पधारे लब्धप्रतिष्ठित कथाव्यास आचार्य प्रचंड देव जी ने श्रीमद् भागवत में वर्णित तृणावर्त, सकटासुर, अकासुर, बकासुर जैसे अत्याचारियों के प्रसंगों का विस्तृत वर्णन करते हुए कहा कि कम उम्र में श्री कृष्ण ने जमुना जी में आधिपत्य जमाने वाले कालिया नाग का मर्दन एवं अजगर रूपी अघासुर का उद्धार किया।  श्री कृष्ण ने कुब्जा का उद्धार किया और कंस का वध करके द्वारिकाधीश कहलाए। 

      कन्हैया के रास नृत्य एवं भोलेनाथ के तांडव नृत्य का विस्तार से वर्णन करते हुए आचार्य जी ने  कहा कि श्री कृष्ण ने गायों की जो सेवा किया वह समाज के लिए प्रेरणादायक है। गौमाता धन्य हैं, जिनकी सेवा स्वयं प्रभु श्री कृष्ण करते हैं। गो सेवा करने वाले को श्री कृष्ण की कृपा प्राप्त होती है। 

    कथा के अंत में श्री कृष्ण रुक्मणी विवाह के विविध प्रसंगों पर आचार्य जी ने विस्तृत प्रकाश डाला। श्री कृष्ण और रुक्मणी के विवाह की अलौकिक झांकी का दर्शन करके पांडाल में उपस्थित  महिलाओं एवं बच्चों सहित श्रद्धालुओं ने जमकर जयकारा लगाया और भाव विभोर होकर  नृत्य किया।

      कथा को  रोचक बनाने में  ढोलक मास्टर राहुल मिश्रा एवं आर्गनबादक संतराम वर्मा की प्रस्तुति उल्लेखनीय रही।

       षष्टम दिवस पर रामपुर खास विधानसभा के चर्चित एवं लोकप्रिय नेता पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रमोद तिवारी, समर्थकों की भारी भीड़  के साथ मातारानी मां भवानी के दरबार में उपस्थित होकर माथा टेका और श्रीमद् भागवत कथा के लब्धप्रतिष्ठित कथाव्यास आचार्य प्रचंड देव जी महाराज  का आशीर्वाद प्राप्त किया।

       कथा में मुख्य यजमान पंडित श्यामसुंदर मिश्र सहित नव दुर्गा पूजा समिति गंगापुर के संरक्षक वरिष्ठ अधिवक्ता परशुराम उपाध्याय सुमन, अध्यक्ष राजेंद्र कुमार मिश्र, हीरा सिंह, संजय त्रिपाठी, दूधनाथ सिंह, धर्मेंद्र गुप्ता, भारत सिंह, जय कांत शुक्ला, पवन सिंह, राजकरन गुप्ता, मल्ला सेठ,राजेंद्र प्रसाद दूबे आदि के अलावा आर यल सिंह, , प्रेमचंद त्रिपाठी, लल्लू उपाध्याय, माता प्रसाद गुप्ता,शिव प्रसाद दीक्षित, महावीर सिंह, कृष्ण कुमार उपाध्याय, गंगा प्रसाद तिवारी, जमुना प्रसाद तिवारी, गजराज सिंह, डॉ प्रेम सिंह, हरिशंकर तिवारी, वृंदा बक्श सिंह, सुशील मिश्रा,सीताराम यादव, राजू सिंह, राघवेंद्र मिश्रा, सूरज यादव, अजय सिंह व उनके परिवार के तमाम सदस्यगण आदि के अलावा सत्रोहन उपाध्याय एवं आलोक त्रिपाठी के नेतृत्व गणेश भगवान, महालक्ष्मी, विष्णु भगवान एवं मां दुर्गा भगवती की आरती के क्रम में "जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा, माता जाकी पार्वती पिता महादेवा"सहित अन्य देवी देवताओं की आरती की गूंज रही। आरती में बड़ी संख्या में महिलाएं, बच्चे व श्रद्धालु उपस्थित रहे। माता रानी के जयकारों के साथ  प्रसाद वितरण किया गया।

       रात्रिकालीन कार्यक्रम में क्षेत्र के चर्चित लोकगायक अमर बेदर्दी एवं उनकी सांस्कृतिक टीम की भजनों की प्रस्तुति से संपूर्ण वातावरण भक्तिमय हो गया। अर्ध रात्रि तक श्रद्धालुओं ने जमकर कीर्तन भजन का आनंद लिया।उल्लेखनीय है कि श्रीमद् भागवत कथा के अंतिम दिन श्री कृष्ण सुदामा चरित्र प्रस्तुत किया जाएगा। नवदुर्गा पूजा समिति मंगापुर के निर्णय के अनुसार 14 अक्टूबर, 2021 (गुरुवार) को प्रातः 10:00 बजे पूर्णाहुति ( यज्ञ हवन ) एवं सायं 5:00 बजे से मां का विशाल भंडारा होना सुनिश्चित किया गया है।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *