Tuesday 01 Dec 2020 23:52 PM

Breaking News:

पीड़ित को घर दिलाने के लिए धरना प्रदर्शन से लेकर कुछ भी करना पड़े: मनोज कश्यप

पीड़ित को घर दिलाने के लिए धरना प्रदर्शन से लेकर कुछ भी करना पड़े: मनोज कश्यप

prakash prabhaw news

पीड़ित को घर दिलाने के लिए धरना प्रदर्शन से लेकर कुछ भी करना पड़े: मनोज कश्यप


शाहजहांपुर ब्यूरो उदयवीर सिंह

रंजीत बाल्मीकि का प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पात्रता सूची में नाम होने के बाद भी अभी तक आवास रहने को नहीं मिला राष्ट्रीय बजरंगदल के जिलाध्यक्ष मनोज कश्यप का कहना है,कि कई बार जिलाधिकारी शाहजहांपुर,उप जिलाधिकारी तिलहर और अधिशासी अधिकारी तिलहर से अनगिनत बार मिलकर के निवेदन किया,प्रार्थना पत्र दिए लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। विभागमन्त्री अर्पित भामाशाह  ने भी स्वयं उपजिलाधिकारी तिलहर व अधिशासी अधिकारी तिलहर से कई बार कॉल द्वारा बात की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

सिर्फ आश्वासन और समय ही मिला।जबकि तिलहर के ही रहने वाले दबंग मुन्ने शाह ने आसरा आवास के कई कमरों(आवासों) पर अवैध कब्जा करके उन कमरों को किराए पर उठा रखा है।जबकि मुन्ने शाह का पात्रता सूची में नाम तक नहीं है।मुन्ने शाह व अवैध रूप से रह रहे लोगों पर भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है।पीड़ित के पास खुद की 1 इंच जमीन नहीं है,2 वर्षों से पीड़ित किसी दूसरे की जगह पर पन्नी डालकर रहने को विवश है।

अब मजबूरन राष्ट्रीय बजरंग दल तिलहर अपने स्तर पर रंजीत बाल्मीकि को न्याय दिलाने के लिए लड़ाई लड़ेगा।इसी राष्ट्रीय बजरंग दल के कार्यकर्ता व पीड़ित परिवार धरने पर बैठने के लिए मजबूर है मनोज कश्यप की मांगे

1,पीड़ित रंजीत बाल्मीकि का पात्रता सूची में नाम है।अतः उनको जल्द से जल्द रहने के लिए आवास मुहैया करवाया जाए।

2,मुन्ने शाह नाम का व्यक्ति दबंग प्रवृत्ति का है उसके द्वारा आसरा आवास के कमरों पर किये गए अवैध कब्जे को हटवाया जाए।

3,मुन्ने शाह के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करके कठोर कानूनी कार्यवाही की जाए।

4,जिन लोगों का पात्रता सूची में नाम नहीं है लेकिन वह मुन्ने शाह व अन्य नेताओं की सह पर अवैध रूप से रह रहे हैं,उनका अवैध कब्जा हटवाया जाए और कानूनी कार्यवाही की जाए।

5,आसरा आवास के 50 कमरे (आवास) अनुसूचित जाति के लोगों के लिए आरक्षित हैं,अतः वे सभी आवास पात्रता के आधार पर पुनः जांच करके आवंटित किए जाएं। अगर मांगे न पूरी हुई तो हम और हमारे कार्यकर्ता

धरना प्रदर्शन के अतिरिक्त राष्ट्रीय बजरंग दल तिलहर उग्र आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। मनोज कश्यप ने बताया जिसकी जिम्मेदारी तिलहर के शासन प्रशासन की होगी।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *