Sunday 07 Aug 2022 22:30 PM

Breaking News:

बुजुर्ग महिला ने इंदिरा नहर में लगाई छलांग, पुलिस ने बचाया, लेकिन सीएचसी के डॉक्टर बने लापरवाह

बुजुर्ग महिला ने इंदिरा नहर में लगाई छलांग, पुलिस ने बचाया, लेकिन सीएचसी के डॉक्टर बने लापरवाह

PPN NEWS

बुजुर्ग महिला ने इंदिरा नहर में लगाई छलांग, पुलिस ने बचाया, लेकिन सीएचसी के डॉक्टर बने लापरवाह


मोहनलालगंज, लखनऊ।


रिपोर्ट- सरोज यादव।


नगराम थाना क्षेत्र के हरदोईया नहर रेग्युलेटर के पास पुलिस चौकी के सामने बुधवार की सुबह एक 70 वर्षीय बुजुर्ग महिला ने इंदिरा नहर में छलांग लगा दी, यह देख चौकी पर तैनात महिला चौकी प्रभारी कीर्ति सिंह व अन्य पुलिस कर्मियों समेत आसपास के लोग दौड़ पड़े और पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से महिला की जान बचा कर उसे किसी तरह नहर से बाहर निकाला। जिसके बाद बेहोशी की हालत में उसे आनन-फानन सीएचसी नगराम ले जाया गया। जहां महिला को होश आने पर उसके परिवारीजनों की जानकारी हुई तो पुलिस ने परिवारीजन को सूचना दी। सूचना मिलते ही सीएचसी पहुंचे बेटे ने अपनी मां को ले जाकर निजी अस्पताल में भर्ती कराया। बेटे ने बताया कि उनकी मां का मानसिक संतुलन ठीक नहीं रहता है उसकी माँ बिना बताए घर से निकल आई थी।

      

गोसाईगंज थाना क्षेत्र के सहजादेपुर गांव में रहने वाली मनु की पत्नी 70 वर्षीय गंगादेई बुधवार सुबह हरदोईया पुलिस चौकी के सामने स्थित रेग्युलेटर के पास पहुंची और देखते ही देखते इंदिरा नहर में छलांग लगा दी। बुजुर्ग महिला को छलांग लगाते देख चौकी प्रभारी कीर्ति सिंह दीवान, मुल्लू राम, रमेश सिंह व सैय्यद हासिम अली दौड़ पड़े और आनन फानन में आसपास के ग्रामीणों को बुलाकर नहर में डूब रही बुजुर्ग महिला को पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से किसी तरह जान बचाकर बाहर निकाला। जिसके बाद उसे बेहोशी की हालत में आनन-फानन सीएचसी नगराम ले जाया गया। जहां महिला को होश आने पर महिला उपनिरीक्षक कीर्ति सिंह द्वारा महिला से उसके परिवारीजनों की जानकारी ली तो और परिवारीजनों को सूचना दी। पुलिस से सूचना पाकर सीएचसी पहुंचे बेटे राममिलन ने बताया कि उसकी मां का मानसिक संतुलन ठीक नहीं रहता था बुधवार सुबह बिना बताए घर से चली गई थी। डिप्रेशन की वजह से ऐसी घटना घटी होगी घर में किसी से वाद विवाद नहीं था।



लापरवाह बना रहे डॉक्टर, अस्पताल के बाहर तडपती रही महिला, थाना प्रभारी करते रहे विनती


नगराम थाना क्षेत्र के हरदोईया निवासी रवीन्द्र कुमार ने अपनी निजी कार से बुजुर्ग महिला को सीएचसी नगराम लेकर पहुंचे जहां महिला को एक घंटे तक इलाज नहीं मिला और वह गाड़ी में पड़ी पड़ी कराहती रही, लेकिन सीएचसी पर मौजूद लापरवाह डॉक्टर नहीं पसीजे। एक घंटे से अधिक का समय व्यतीत होने के बाद बुजुर्ग महिला को धूप से तपता हुआ स्टेचर मिला जिसमे लिटाते ही महिला चीख उठी। सूचना पाकर नगराम इंस्पेक्टर शमीम खान भी सीएचसी पहुंचें और सीएचसी में मौजूद डॉक्टर दिवाकर से बुजुर्ग महिला का उपचार करने के लिए गिड़गिड़ाते उसके बावजूद लापरवाह डॉक्टर नहीं पसीजे।


बिना उपचार मुहैया कराए ही दर्द से कराह रही बुजुर्ग महिला को एक घंटे बाद लखनऊ के सिविल अस्पताल रेफर कर दिया। वहीं पुलिस से सूचना पाकर सीएचसी पहुंचे बेटे राम अवतार ने अपनी माँ को एक निजी अस्पताल में ले जाकर उपचार हेतु भर्ती कराया।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *