Wednesday 25 Nov 2020 20:01 PM

Breaking News:

निगरानी समितियों को प्रभावी बनाये जाने पर बल ।

निगरानी समितियों को प्रभावी बनाये जाने पर बल ।

prakash prabhaw news

unnao

निगरानी समितियों को प्रभावी बनाये जाने पर बल ।

नोडल अधिकारी ने कोविड-19 (कोरोना) महामारी को दृष्टिगत रखते हुये अन्य प्रदेशों से आने वाले व्यक्तियों को होम क्वारंटाइन हेतु बैठक में शासन से प्राप्त दिशा-निर्देशों में कोरोना से बचाव हेतु दिये गये सावधानियों से अवगत कराया गया। मुख्य सावधानियां जैसे होम क्वारंटाइन व्यक्तियों के आवासित भवन पर फ्लैग/पोस्टर चस्पा करना, मोबाइल पर आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड कराना, घर के व्यक्तियों को क्वारंटाइन व्यक्ति के सम्पर्क में न रहना, परिवार के किसी एक ही सदस्य का बाहर से सब्जी तथा अन्य सामान लाने-ले जाने के लिये अधिकृत करना, गर्भवती महिलाओं, बच्चों, बुजुर्गों तथा अन्य प्रकार की बीमारी जैसे हाई ब्लड प्रेशर, सुगर, अस्थमा आदि बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियों से दूर रहने, होम क्वारंटाइन व्यक्ति के कपड़े व बर्तन परिवार के अन्य सदस्यों से अलग रखने, अलग टायलेट/बाथरूम का प्रयोग करने (यदि एक ही टायलेट/बाथरूम है, तो ब्लीचिंग से धुलाई के बाद ही परिवार के अन्य सदस्यों द्वारा उसका उपयोग करने) एवं होम क्वारंटाइन व्यक्ति को 21 दिन तक घर से बाहर न निकलने हेतु सचेत करना आवश्यक है। यदि क्वारंटाइन व्यक्ति होम क्वारंटाइन स्थल से बाहर दिखाई पड़े, तो अपने वार्ड सभासद, सफाई हवलदार, आशा कार्यकत्र्री होम क्वारंटाइन व्यक्ति यदि 21 दिन से पूर्व बाहर विचरण करता हुआ पाया जायेगा, तो उससे जुर्माना वसूल करते हुये कठोर कार्यवाही की जायेगी। 

बैठक में उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि जनपद से आने-जाने वाले प्रवासी मजदूरों की सम्पूर्ण सूचना प्रोटोकाल के तहत निर्धारित प्रारूप में उपलब्ध करायी जाये। जो प्रवासी श्रमिक चोरी छिपे बगैर जाॅच के गांव आ रहे है। उनका संक्रमण से बचाव के पूरे उपाय किये जाये। सभी को अपनी भागीदारी दिखानी है हर व्यक्ति को जागरूक करने एवं उसको सुरक्षा के पूरे नियम से अवगत कराना है। यदि कर्तब्यों का निर्वाहन सम्बन्धि अधिकारी/कर्मचारी नही करते है। तो जिस गांव मे सक्रमित व्यक्ति पाया जाता है तो सम्बन्धित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। नगर एवं ग्रामीण क्षेत्र में बनायी गई निगरानी समितियों का मानीटरिंग किया जाना आवश्यक है। सभी निगरानी समितियों के पदाधिकारियों  को उनके उत्तर दायित्वों से भली भति अवगत करा दे।

नोडल अधिकारी ने मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति केा निर्देश दिये है कि क्षेत्रीय सम्बन्धित अधिकारियों के माध्यम से ग्रामीण वासियों को मास्क अनिर्वाय रूप से पहनने के लिये जागरूक कराये, जिनके पास मास्क नही है उन्हे उपलब्ध कराये जाये। कार्यालयों में भी अधिकारियों/कर्मचारियों को मास्क तथा गमक्षा लगाये जाने पर जोर दे तथा इधर उधर थूकने वालो के विरूद्ध जुर्माना निर्धारित किया जाये। प्रावासी श्रमिको का राशन कार्ड बनवाये जायें तथा काॅमन सेन्टर के माध्यम से श्रमिको का हुनर के अनुसार रजिस्टेशन कराकर रोजगार उपलब्ध कराये। 

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी डा0 राजेश कुमार प्रजापति, जिलाविकास अधिकारी  आर0यू0 द्विवेदी, जिला पंचायत राज अधिकारी राजेन्द्र यादव, उप निदेशक सूचना डा0 मधु ताम्बे, सहित समस्त खण्ड विकास अधिकारी/अधिशासी अधिकारी नगर पंचायत आदि उपस्थित थे।

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *