Friday 04 Dec 2020 23:33 PM

Breaking News:

जिला पंचायत में 25 करोड़ के कामों में राजनीतिक दांवपेच पहुंचे चरम पर

जिला पंचायत में 25 करोड़ के कामों में राजनीतिक दांवपेच पहुंचे चरम पर

Prakash prabhaw news

पीलीभीत न्यूज

जिला पंचायत में 25 करोड़ के कामों में राजनीतिक दांवपेच पहुंचे चरम पर

पीलीभीत(नीलेश चतुर्वेदी) :जिला पंचायत में 25 करोड़ के सड़क व नालियों के निर्माण के ठेके हासिल करने को लेकर सपा और भाजपा नेताओं में राजनीतिक दांवपेच चरम पर पहुंच गए हैं। किसी भी विभाग में पंजीकृत ठेकेदार द्वारा जिला पंचायत के कामों में टेंडर डालने के हाईकोर्ट के आदेश के बाद शासन ने भी निर्देश जारी कर दिए हैं। इसके बाद नए ठेकेदारों को भी टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा लेने का रास्ता साफ हो गया।

जिला पंचायत में 25 करोड़ के कामों के ठेके हासिल करने को लेकर जिला पंचायत में बीते आठ माह से खींचतान चल रही है। जिला पंचायत अध्यक्ष ने पहले यह बंदिश लगा दी थी कि जिनका पंजीकरण उनके दफ्तर में है, वही टेंडर प्रक्रिया में हिस्सा ले सकते हैं। इस पर जिला पंचायत के पुराने ठेकेदार सक्रिय हो गए। इनमें से कुछ हाईकोर्ट चले गए। इसे देखते हुए जिला पंचायत ने अपने यहां पंजीकृत ठेकेदारों को ही टेंडर प्रक्रिया में शामिल कर छह जून टेंडर डालने की आखिरी तारीख घोषित कर दी।

दूसरी ओर टेंडर प्रक्रिया में पारदर्शिता का मुद्दा बनाकर भाजपा के बरखेड़ा विधायक किशनलाल राजपूत और पूरनपुर विधायक बाबूराम पासवान ने लखनऊ में डेरा डाल दिया। इस बीच हाईकोर्ट ने यह आदेश कर दिया कि कहीं भी पंजीकृत ठेकेदार जिला पंचायत में अपना टेंडर डाल सकते हैं। इसके बाद शासन ने भी इस संबंध में आदेश जारी कर दिया। अब टेंडर प्रक्रिया मेें कहीं भी पंजीकृत ठेकेदारों के शामिल होने का रास्ता साफ हो गया। जिला पंचायत अध्यक्ष के पुराने करीबी ठेकेदारों में तनातनी हो गई थी। अब अन्य विभागों में पंजीकृत यह ठेकेदार दूसरे माध्यमों से काम हासिल करने की जुगाड़ में लग गए हैं। हाईकोर्ट के आदेश के बाद शासन ने जिला पंचायत को पत्र जारी करते हुए 25 करोड़ के कामों की अंतिम तिथि को छह जून से बढ़ाकर 13 जून करने को कह दिया। इसके बाद ज25 करोड़ के कामों में ज्यादा से ज्यादा हथियाने के लिए सपा और भाजपा नेताओं के बीच राजनीतिक जोड़ तोड़ शुरू हो गई है।

क्या कहते हैं पूरनपुर विधायक

जिला पंचायत की टेंडर प्रक्रिया में पारदर्शिता नहीं थी। अब तक जितनी सड़कें या नालियां बनाई गईं, उनमें बड़े पैमाने पर भ्रष्टाचार किया गया। हम चाहते हैं कि टेंडर प्रक्रिया में पारदर्शिता बनी रहे। - बाबूराम पासवान, विधायक पूरनपुर

क्या कहते हैं बरखेड़ा विधायक

जिला पंचायत की टेंडर प्रक्रिया में कुछ सीमित ठेकेदारों को काम देने की कोशिश थी। हमने लखनऊ में प्रमुख सचिव पंचायत से मुलाकात की। अब कहीं भी पंजीकृत ठेकदार टेंडर डाल सकेंगे। - किशनलाल राजपूूत, विधायक बरखेड़ा

क्या कहते हैं जिला पंचायत के अधिकारी

कहीं भी पंजीकृत ठेकेदार के टेंडर डालने का आदेश मिलने के बाद जिला पंचायत की टेंडर प्रक्रिया की तिथि छह जून से बढ़ाकर 13 जून कर दी गई है। 15 जून को टेंडर खोला जाएगा। - जागन लाल, अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत

Comments

Leave A Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *